19 C
New Delhi
Thursday, February 22, 2024

राम मंदिर के निर्माण हेतु रामेश्वरम की पावन मिट्टी अयोध्या भेजी गई

रामेश्वरम: एक हिंदू समर्थक संगठन और अन्य लोगों द्वारा पवित्र “अग्नि थीर्थम” समुद्र की मिट्टी को एकत्रित की गई और राम मंदिर के निर्माण में इस्तेमाल होने के लिए गुरुवार को अयोध्या भेजी गई।

राम मंदिर का भूमिपूजन या ग्राउंड ब्रेकिंग समारोह 5 अगस्त को अयोध्या में होने वाला है, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शामिल होने की उम्मीद है।

किंवदंती के अनुसार, भगवान राम ने रावण को मारने के बाद श्रीलंका से देवी सीता के साथ लौटने पर इस द्वीप पर लिंग के रूप में भगवान शिव की पूजा की थी। यहाँ का प्रसिद्ध रामनाथस्वामी मंदिर भगवान शिव को समर्पित है।

संगठन ने कहा कि गुरुवार को हिंदू मुन्नानी के कुछ पुजारियों, स्थानीय लोगों ने समुद्र से रेत इकट्ठा की, विशेष पूजा की, इसपर एक सोने की परत चढ़ाई और इसे अयोध्या में मंदिर के निर्माण में इस्तेमाल करने के लिए भेजा। मिट्टी डाक द्वारा भेजी गई थी।

लंबे समय से प्रतीक्षित मंदिर का निर्माण, सुप्रीम कोर्ट द्वारा सर्वसम्मति से अयोध्या में विवादित स्थल पर उसके निर्माण के लिए रास्ता साफ करने के बाद भूमी पूजन की रस्म के साथ शुरू करने के लिए तैयार है, और सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को 5 एकड़ का भूखंड सुन्नी वक्फ बोर्ड के लिए आवंटित करने का निर्देश दिया जहां वो मस्जिद का निर्माण कर सके।

Recent posts